Wednesday, October 2, 2019

Free Cash Flow का मतलब क्या होता है ?


Free Cash Flow

दोस्तों इस से पहले हम Cash Flow Statement के बारे में समझ चुके है।

तब हमने बात की थी की जितना किसी भी कंपनी के लिए उसके Net Profit का महत्व है उतना ही उसके cash का महत्व है।

अगर कंपनी व्यापार तो कर रही है, लेकिन कही से भी उसके पास cash नहीं आ रहा तो उस व्यापार का कोई मतलब नहीं है।

क्युकी बिना पैसा वापस आए कंपनी अपना व्यापार आगे नहीं बढ़ा सकती।

इसके आलावा कंपनी के पास कितना Cash है, उसका उपयोग कंपनी के मूल्यांकन के लिए भी होता है।

आज हम इसी के लिए बहुत ही जरुरी Free Cash Flow को समझेंगे।

और उसका उपयोग हम आने वाले दिनों में Stock Valuation के एक और तरीके में करेंगे।

तो आइए पहले जानते है की,

Free Cash Flow क्या होता है ?


किसी भी कंपनी की Operating Activities से मिले Cash में से उसके Capital Expenditure को घटाने से मिले हुए Cash को Free Cash Flow कहते है।

कंपनी की Operating Activities का मतलब है, कंपनी के मुख्य व्यापार से जुडी हुई activities .

जैसे कोई कंपनी Transport से जुड़ा हुआ काम करती है, तो उसकी Transport से जुडी हुई सारी activities , operating activities कहलाएंगी।

Operating activities के बारे में हम यहाँ पहले से ही जान चुके है।

Capital Expenditure का मतलब कंपनी ने अपने व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए किए हुए खर्च।

अलग अलग प्रकार के व्यापार के लिए यह Capital Expenditure अलग अलग हो सकता है।

जैसे अगर कोई कंपनी Car Rent पर देने का काम करती है, तो उसके लिए नई Car के लिए किया खर्च Capital Expenditure हो सकता है।

वैसे ही कोई Manufacturing कंपनी के लिए नया Plant या Machine भी Capital Expenditure है।

Free Cash Flow को FCF भी कहा जाता है।

अब जानते है की,

FCF का formula क्या है ?


किसी भी कंपनी के लिए उसका
होगा।
Capital Expenditure और Cash from Operating Activities हमें कंपनी के Cash Flow Statement में मिलता है।

जैसे D'mart का Cash Flow Statement निचे दिया है।


इसमें से आप देख सकते है, की उसका Cash From Operating Activities 852.78 करोड़ है।

और Capital Expenditure 1379.98 करोड़ है।

तो अब उसका

FCF = 852.78 - 1379.98 = - 527.20 होगा।

Positive या Negative भी हो सकता है:


आप देखेंगे की बहुत सी कंपनीओ के लिए उसका FCF negative भी होता है।

यानी उनका Capital Expenditure उसके Cash From Operating Activities से ज्यादा है।

इसका मतलब यह बिलकुल भी नहीं है, की वह बुरी कंपनियां है।

क्युकी ज़्यादातर नई कंपनियां अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए Capital Expenditure करती रहती है।

मगर हो सकता है, की उनका Cash उतना नहीं आता हो।

इसी लिए कुछ सालो पहले ही शुरू हुई कंपनिओ का FCF negative ही होता है।

आप देखेंगे की जो कंपनियां बहुत सालो से चल रही है, उनका FCF ज्यादातर positive ही होता है।

क्युकी वह अपने लिए ज्यादातर Capital Expenditure कर चुकी होती है।

और उनका Cash भी उतना ज्यादा होता है, की उनका Capital Expenditure आराम से उसमे से निकल जाता है।
उसके बाद भी उनका FCF बहुत अच्छा होता है।

इसी लिए यह कंपनियां निवेश के लिए थोड़ी कम जोखिम भरी हो सकती है।

लेकिन इसका मतलब यह नहीं है की हम सिर्फ Positive FCF को देख कर कंपनी में निवेश कर दे।

हमें कंपनी का मुल्यांकन भी करना पड़ता है।

इस लिए बिना मूल्यांकन किए अच्छी से अच्छी कंपनीओ में भी निवेश नहीं करना चाहिए।

Disclaimer : दोस्तों यहाँ पर मैंने D'Mart का उदाहरण सिर्फ आपको समझाने के लिए ही लिया है।

में किसी भी कंपनी में निवेश की सलाह नहीं दे रहा हु।

इस लिए कोई भी निवेश अपने वित्तीय सलाहकार की सलाह पर ही करे।

निष्कर्ष :


दोस्तों आज हमने सीखा की Free Cash Flow क्या होता है ?

और कंपनी का FCF कैसे खोजते है, वह भी सीखा।

उम्मीद करता हु आप इस Free Cash Flow को अच्छी तरह से समझ गए होंगे।

शेयर बाज़ार, म्यूच्यूअल फंड और निवेश से जुडी ऐसी ही और भी जानकारी सीधे अपने Email पर Free में पाए।

इसके लिए हमारे Free Weekly Newsletter को तुरंत ही Subscribe कर ले।

धन्यवाद।



Comments