Friday, October 25, 2019

Circuit Filter in Stock Market क्या है ?

Circuit Filter in Stock Market.
दोस्तों आपने कई बार शेयर बाज़ार में किसी Share में Circuit लगने के बारे में सुना होगा।

और सुना होगा कि किसी शेयर में Upper Circuit लगा है तो किसी में Lower Circuit लगा है ।

तो क्या आप यह जानते है की यह Circuit के लगने का मतलब क्या होता है ?

नहीं ?

कोई बात नहीं। आज हम इन्ही के बारे में बात करेंगे।

तो आइए पहले जान लेते है की,

Circuit Filter in Stock Market क्या है ?


Circuit Filter या Circuit किसी भी शेयर को एक Limit से ज्यादा बढ़ने या घटने से नियंत्रित करने की एक व्यवस्था है।

जैसे अगर किसी शेयर में 100 रुपए पर upper circuit लगा है, तो उस दिन के लिए उस शेयर में खरीद बिक्री बंध हो जाएगी।

जिस से उस शेयर का दाम 100 रुपए से ऊपर न जा सके।

क्यु रखा जाता है Circuit Filter ?


शेयर बाज़ार में किसी बहुत बुरी या बहुत अच्छी खबर की असर होती ही रहती है।

कभी कभी ऐसा भी हो सकता है, की इन खबरों की वजह से शेयर में बहुत बड़े बड़े move हो।

जैसे कोई शेयर 10, 20 ,50 , 100, 150 प्रतिशत बढ़ जाए या फिर कम हो जाए।

अगर कोई शेयर एक दिन में 100 - 150 कम हो गया तो उस शेयर के धारको का पैसा आधा हो सकता है।

ऐसे में शायद कोई इस जटके को सहन कर पाए या न कर पाए।

इसी लिए शेयर में आने वाले ऐसे जंगली बदलावों को रोकने के लिए उन में Circuit Filter का उपयोग किया
जाता है।

Circuit Filter कितने % पर होते है ?


किसी भी शेयर की Circuit Limit हर रोज़ बदल सकती है।

Share के लिए यह Limit Stock Exchange तय करता है।

यह limit 2 %, 5 % , 10 %, 15 % और 20 % तक की होती है।

यानी अगर किसी शेयर की आज की Circuit Limit 20% है, तो उस शेयर में कल के दाम के 20 % तक बढ़ सकता है, और 20 % तक ही कम हो सकता है।

अगर लगातार किसी शेयर में दो दिन तक Circuit लगी तो तीसरे दिन उस शेयर की सर्किट लिमिट 10% कर दी जाएगी

उसके बाद अगर लगातार दो दिन तक 10% की सर्किट लगी तो तीसरे दिन उसकी लिमिट 5% कर दी जाएगी।

और जब तक किसी शेयर में किसी दिन सर्किट नहीं लगती तब तक उस शेयर की सर्किट लिमिट नहीं बदलती।

यह Circuit Limit उन शेयर को लागु नहीं होती जो की Futures & Options Market में Trade किए जाते है।

Upper Circuit क्या है ?


जब कभी बाजार में किसी शेयर के सिर्फ खरीददार हि हो कोई भी बेचने वाला न हो तब उस शेयर में Upper Circuit लगी है ऐसा कहा जा सकता है ।

जैसे अगर कोई share आज 100 रुपए पर बंद होता है और उसकी कल की circuit लिमिट 20 % है तो अगर कल वह शेयर 120 तक पहुंच जाएगा तो उस शेयर ने upper circuit लग जाएगी ।

मतलब वह शेयर कल के पूरे दिनमे 120 रुपए के ऊपर नहीं जा सकता ।

Lower Circuit क्या है ?


अगर कोई share में सभी लोग सिर्फ बेचने वाले ही है कोई भी खरीदने वाला नहीं है, तो उस शेयर में Lower Circuit लगी है ऐसा कहते है ।

जैसे अगर कोई share आज 100 रुपए पर बंद होता है और उसकी कल की circuit लिमिट 20 % है तो अगर कल वह शेयर 80 तक पहुंच जाएगा तो उस शेयर ने लोअर circuit लग जाएगी ।

मतलब वह शेयर कल के पूरे दिन में 80 रुपए के नीचे नहीं जा सकता ।

क्या हमें Circuit लगे हुए शेयर खरीदना या बेचना चाहिए ?


जी नहीं ।

किसी शेयर में Upper या Lower circuit लगी है सिर्फ उसी को देखकर उसे खरीदना या बेचना नहीं चाहिए ।

क्युकी अगर किसी शेयर में आपने Short Selling की है और अगर उस शेयर में lower circuit लग जाए तो आपका शेयर Auction में चला जाता है ।

जिसमे आपको बहुत ज्यादा नुकसान भी हो सकता है ।

हालाकि आप इस से उल्टा कर सकते है की जिस शेयर में upper circuit लगी हो उसे बेच सकते है और जिसमे lower circuit लगी हो उसे खरीद सकते है ।

लेकिन lower circuit वाले शेयर को खरीदना बहुत नुकसान देह हो सकता है ।

किसी शेयर की Circuit limit कैसे पता करे ?


किसी भी शेयर की सर्किट लिमिट आप स्टॉक एक्सचेंजों जैसे BSE और NSE की वेबसाइट से पता लगा सकत है।

इसके लिए BSE और NSE की वेबसाइट पर जाएं और जिस शेयर की सर्किट लिमिट जानना चाहते है उस शेयर का नाम Search करे ।

जिससे आपको उस शेयर की प्राइस range मिल जाएगी ।

निष्कर्ष :


दोस्तों आज हमने Circuit Filter in Stock Market के बारे में सीखा।

उम्मीद करता हु आप अबसे यह जानकारी का उपयोग अपने लाभ के लिए करेंगे।

शेयर बाज़ार , म्यूच्यूअल फंड और निवेश से जुडी अन्य जानकारी अब सीधा अपने Email पर Free में पाए।

इसके लिए हमारे Free Weekly Newsletter को तुरंत ही Subscribe कर ले।

धन्यवाद।



Comments