Sunday, September 15, 2019

Consolidation Meaning in Hindi क्या है ?

Consolidation Meaning in Hindi.

इस से पहले हम Stock Split और Bonus Issue के बारे में जान चुके है।

आज हम Stock Split से बिलकुल विरुद्ध Corporate Action के बारे में जानेंगे।

और यह है,

Consolidation Of Shares.

हम जानेंगे की Consolidation क्या होता है ? और विस्तार से जानेंगे की Consolidation of Shares क्या है ?

तो आइए पहले जानते है की,

कंसोलिडेशन क्या होता है ? (Consolidation Meaning in Hindi)


अगर सरल भाषा में कहा जाए तो Consolidation का मतलब होता है, एकत्रित करना या संगठित करना।

यानी अगर किसी दो चीज़ो को जोड कर एक साथ किया जाय तो उसका Consolidation किया है ऐसा हम कह सकते है।

शेयर बाजार में मुख्य तीन तरह के Consolidation होते है जिनमे
  • Share के दाम के Chart में होने वाला Consolidation ,
  • कंपनी द्वारा पेश किए जाने वाला Consolidated Results और
  • Consolidation of shares सामिल है।
इन तीनो में से आज हम Consolidation of Shares के बारे में बात करेंगे।

क्या होता है Consolidation of Shares ?


Consolidation of Shares एक Corporate Action है, जो कंपनी द्वारा अपने Shares पर किया जाता है।

यह Stock Split से एकदम विरुद्ध प्रक्रिया है।

जैसे Stock Split में कंपनी अपने शेयर को टुकड़ो में बाटती है, उसके विरुद्ध Consolidation में वह 1 से ज्यादा शेयर को 1 शेयर में बदलती है।

मतलब 2,3 या 4 शेयर को 1 शेयर में बदलना।

क्युकी इस प्रक्रिया में 1 से ज्यादा शेयर को 1 शेयर में बदला जाता है, इसी लिए इसे Consolidation of Shares कहा जाता है।

Consolidation of Shares का एक उदाहरण :


इस एक उदाहरण से आप Consolidation of Shares को बहुत अच्छी तरह समझ जाएंगे।

श्रीमान वर्मा के पास Company ABC के 200 शेयर है, जिस एक शेयर की किमत 100 रुपए है।

Company ABC ने शेयर बाज़ार में अपने कुल 20000 शेयर इशू किए हुए है।

अब वह 2 : 1 Ratio के हिसाब से अपने Share का Consolidation करने का एलान करती है।

यानी कंपनी अपने हर 2 शेयर को 1 शेयर में बदल देगी।

जिस से शेयर बाज़ार में Company ABC के कुल 10000 शेयर हो जाएंगे।

इसी तरह श्रीमान वर्मा के पास जो 200 शेयर है, वह 200 में से 100 शेयर हो जाएंगे।

तो क्या निवेश किए हुए पैसे आधे हो जाएंगे ?


जी नहीं। ऐसा नहीं है।

क्युकी Share का Consolidation जिस अनुपात में होता है, उसी तरह उस की किमत भी बदल जाती है।

जैसे ऊपर के उदाहरण में Consolidation के पहले 1 शेयर का दाम 100 रुपए था।

लेकिन Consolidation के बाद नए 1 शेयर का दाम अब 200 रुपए हो जाएगा।


जिस से श्रीमान वर्मा का निवेश पहले की तरह 20 हजार ही रहेगा।

इसी तरह सभी निवेशक के निवेश की कुल राशि में कोई फर्क नहीं आएगा।

केवल उनके पास जो शेयर थे वह आधे हो जाएंगे।

तो फिर कंपनी अपने शेयर को Consolidate क्यु करती है ? Consolidation Meaning in Hindi


कुछ बहार के निवेशक बहुत कम दाम वाले शेयर में निवेश करना पसंद नहीं करते कई कंपनियां इस लिए अपने शेयर को Consolidate करती है।

क्युकी Consolidate करने से उनके शेयर का दाम बढ़ जाता है, और बहार के निवेशक उन कंपनीओ को सिर्फ शेयर का दाम कम होने की वजह से छोड़ न दे।

लेकिन अगर कोई कंपनी कोई ठोस कारण के बिना अपने शेयर का Consolidation करती है, तो तुरंत ही सावधान हो जाइए।

और ऐसी कंपनी में निवेश के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए।

क्युकी बिना किसी ठोस कारण अगर कोई कंपनी अपने शेयर का Consolidation कर रही है, तो मतलब है, वह अपने शेयर का दाम बढ़ाना चाहती है।

जिस से लोगो को लगे की उसका शेयर सही में बढ़ा है, इस लिए शायद कुछ लोग उसमे निवेश कर दे।

और वैसे भी Share का Consolidation करना अच्छी चीज़ नहीं मानी जाती।

निष्कर्ष :


दोस्तों आज हमने सीखा की Consolidation Meaning in Hindi क्या है ?

और जाना की Consolidation of Shares क्या है, तथा कंपनी अपने शेयर को Consolidate क्यु करती है ?

तो दोस्तों उम्मीद करता हु की आपके लिए यह जानकारी उपयोगी साबित होगी।

ऐसी ही उपयोगी जानकारी अब Free में सीधे अपने Email पर पाए।

इसके लिए हमारे Free Weekly Newsletter को तुरंत ही Subscribe कर ले।

धन्यवाद।



Comments