Sunday, August 25, 2019

Employee Stock Option Plan क्या है ?

Employee Stock Option Plan.

इस से पहले हमने D'Mart के उदाहरण से Cash Flow Statement को जाना था।

तब हमने ESOP के बारे में बात की थी।

आज हम उसके बारे में थोड़े विस्तार से जानेंगे।

सबसे पहले हम जानते है,

क्या है Employee Stock Option Plan ?



Employee Stock Option Plan या ESOP कंपनी और उसके कुछ कर्मचारीओ के बिच हुआ एक Contract है।

इस Contract के अनुसार अगर वह Employees अगले कुछ निश्चित साल तक उसी कंपनी मे रहेंगे तो उन्हें कंपनी के कुछ शेयर दिए जानेगे।

और यह शेयर, बाज़ार में चल रहे उस शेयर के दाम से अच्छे Discount पर दिए जाते है।

जिस से दो लाभ होते है :
  • Employee को मिलने वाले लाभ की वजह से वह कंपनी में पहले से ज्यादा अच्छे से और ज्यादा समय तक काम करता है।
  • उसके लगातार ज्यादा अच्छे काम करने से कंपनी का मुनाफ़ा बढ़ता है और जिस से Company के Share का दाम बढ़ जाता है।
  • जिसके बाद वह कंपनी के शेयर को बाजार में बेचकर मुनाफा कमा सकता है।
  • Company को अपने कर्मचारी को Cash के रूप में Extra Incentives देने की जरुरत नहीं होती।
इस तरह ESOP से कंपनी खुद और उसके कर्मचारी दोनों को लाभ मिलता है।

ESOP को ज्यादा अच्छे से समझ ने के लिए एक उदाहरण लेते है।


Employee Stock Option Plan Example :



श्रीमान शाह जी एक Company X में पिछले 5 सालो से काम कर रहे है।

और अब वह उस Company के Permanent Employee बन चुके है।

वैसे तो Company X का व्यापार अच्छा चल रहा था लेकिन पिछले 1 साल से कंपनी का व्यापार अच्छा नहीं चल रहा।

जिस से Company की हालत ख़राब है।

इस लिए उसने अपने 10 Permanent Employees जिसमे श्रीमान शाह भी सामिल है उनकी Salary बढ़ाने के बदले ESOP offer किया।

जिसमे उन्होंने एक शर्त रखी की अगर वे अगले 3 साल तक उसी Company में समान तनख्वाह पर काम करेंगे तो उन्हें Company X के 1000 शेयर दिए जाएंगे।

और यह सभी शेयर जिसकी बाज़ार में किमत 100 रुपए है वही शेयर उन्हें 40 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से दिए जाएंगे।

इन सभी शेयर को अगले तीन साल तक वे नहीं बेच सकते।

जिस से श्रीमान शाह जी को भी Company X के 1000 शेयर 40 रुपए के हिसाब से मिलने वाले थे।

इस से होने वाले लाभ को श्रीमान शाह जी समझते थे इस लिए उन्होंने पुरे 3 साल तक उस कंपनी में काम किया।

जिस से उन्हें 1000 शेयर मिल गए।

और उन तीन साल में उस कंपनी के शेयर का दाम 100 में से 150 हो गया था।

अब श्रीमान शाह जी वह 1000 शेयर बेचने के लिए स्वतंत्र थे।

तो उन्होंने वह 1000 शेयर 150 रुपए में बेच दिए जिस से उन्हें 40000 रुपए के निवेश पर 110000 रुपए का मुनाफ़ा मिला।

इस लिए ESOP से श्रीमान शाह जी और उनकी कंपनी दोनों को ही लाभ मिला।

लेकिन क्या ESOP पहले से ही उस कंपनी के शेयर धारको के लिए लाभकारी है ? आइए देखते है।


पुराने निवेशकों के शेयर पर ESOP का असर :



पुराने शेयर धारक या निवेशकों के लिए ESOP लाभ दायी नहीं है।

क्युकी ESOP में कंपनी Employees को नए शेयर इशू कर रही है, नाकी बाजार से खरीद कर दे रही है।

जिस से बाजार में जब भी कर्मचारी उन शेयर को बेचेंगे तब Company X के शेयर की संख्या बढ़ जाएगी।

और शेयर की संख्या बढ़ने से हर एक शेयर की किमत कम हो जाएगी।

इस लिए जो शेयर पहले से ही निवेशकों के पास है, उनकी भी किमत कम हो जाएगी।


इसी प्रक्रिया को Equity Dilution कहते है।

जब हमने D'Mart के Profit & Loss Statement को समझा था तब हमने Basic और Diluted EPS के बारे में जाना था।

इसी Equity Dilution से कंपनी के शुद्ध मुनाफे के पहले जितने टुकड़े पड़ते थे अब ज्यादा टुकड़े होंगे।

क्युकी कंपनी ने कुछ Employees को नए शेयर इशू किए है।

इस तरह प्रत्येक शेयर के हिस्से में पहले से कम कमाई होगी जिसे हम Diluted EPS कहते है।

और Equity Dilution से इस तरह उस कंपनी के पुराने निवेशक को नुकसान होता है।

लेकिन ESOP से लाभ के लिए Employees अच्छा काम भी करते है, जिस से कंपनी का व्यापार आगे बढ़ता है।

और इस से आखिर में कंपनी के निवेशकों को ही लाभ होता है।

तो दोस्तों यह थी Employee Stock Option Plan के बारे में जानकारी।

उम्मीद करता हु यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी।

ऐसी ही जानकारी free में सीधे अपने Email पर पाने के लिए हमारे Free Weekly Newsletter को तुरंत ही Subscribe कर ले।

धन्यवाद।



Comments