Tuesday, August 27, 2019

Auditor Meaning in Hindi | Audit क्या है ?

Auditor Meaning in Hindi

अब तक हम Fundamental Analysis की Series में कंपनी के Financial Statements के बारे में जान चुके है।

और साथ में उस से जुडी कई बातो के बारे में जान चुके है।

लेकिन आज हम इन सब से ज्यादा महत्व पूर्ण विषय के बारे में जानेंगे।

यह है,


Audit और Auditor Meaning in Hindi :



एक निवेशक किसी भी कंपनी को उसके Financial Statements पर से Analyze करता है।

लेकिन Financial Statements तो कंपनी ही बनाती है।

तो कंपनी ने अपनी सच्ची आय, सच्चे दायित्व और संपत्ति दिखाई है यह सब कैसे पता चले।

क्युकी कंपनी का Analysis करने वाले निवेशक खुद तो सभी कंपनी में जाकर लिखी गई जानकारी सही है या नहीं यह नहीं जान सकते।

हो सकता है, की कंपनी को loss हो रहा हो लेकिन वह अपने आप को Profit मे दिखाए।

ऐसी तो बहुत सी चीज़ कंपनियां कर सकती है।

ऐसे तो निवेशकों को कभी सच्चे आकड़े नहीं मिलेंगे जिस से उसको नुकसान ही नुकसान होगा।

इस समस्या का समाधान है, Audit.

Audit वह प्रक्रिया है जिसमे कंपनी से अलग एक व्यक्ति द्वारा कंपनी के Financial Statements और कंपनी की वित्तीय स्थिति की पुष्टि करता है।

Auditor कौन होता है ?


कंपनीओ से अलग जो व्यक्ति कंपनीओ की Audit करने के लिए Registered होता है, उसे Auditor कहते है।

कंपनीओ की वित्तीय स्थिति और बाकि की जानकारी के आधार पर कंपनी के वित्तीय Statements की पुष्टि करने के बाद Auditor अपनी राय एक Report के रूप में देता है।

जिसे Auditor's Report कहते है।


इस Auditor Report को कंपनियां अपने Annual Report के साथ जोड़ देती है।

जिसको पढ़कर निवेशक यह देख सकता है, की कंपनी के Financial Statements Auditor द्वारा जांचे गए है।

और अब वह उन आकड़ो के अनुसार कंपनी की स्थिति को Analyze कर के अपने अनुसार निवेश का फैसला ले सकता है।


Types of Auditors :



Auditors के मुख्य दो प्रकार होते है :
  1. Internal Auditor
  2. External Auditor

1) Internal Auditors :


Internal Auditor वह Auditor होता है, जिसको कंपनी का Management खुद ही Appoint करता है।

जो कंपनी के Performance और सभी Activities ठीक से हो रही है या नहीं इसकी जाँच करता है।

और कैसे उन सभी Transactions को सही सही दिखाया जा सकता है उसके बारे में बताता है।

जिस से कंपनी अपने Financial Statements को ज्यादा Accurate कर सकती है।

क्युकी यह कंपनी के Management द्वारा रखा जाता है, इस लीए वह अपनी Report कंपनी के Management को देता है।


2) External Auditors :


External Auditor बहार का व्यक्ति होता है, जो की कंपनी से कुछ भी संबंध नहीं रखता है।

यानी वो कंपनी से पूरी तरह Independent होता है।

जिसको कंपनी की Performance और सभी Statements को Verify करने के लिए कंपनी के Board of Directors द्वारा रखा जाता है।

जो अपनी Report में कंपनी द्वारा जारी किए गए सभी Statements के बारे में बताता है।

की क्या कंपनी ने Financial Statement में जो जानकारिया दी है वह सही है या नहीं।

कंपनी ने उसे Audit के लिए जरुरी जानकारिया दी थी या नहीं ?

इन सब के आधार पर वह अपना Opinion अपने Report यानी Independent Auditor's Report में देता है।

इस Report को सभी निवेशकों और जो उस कंपनी में निवेश करने के बारे में सोच रहे है उन सभी को पढ़ना बहुत जरुरी है।

लेकिन सच बात तो यह है, की ज्यादातर सामान्य निवेशकों को इसके बारे में पता ही नहीं होता।

एक वजह यह भी है, की सामान्य निवेशकों को शेयर बाजार में निवेश पर ज़्यदातर नुकसान ही होता है।

इस लिए अब से आप भी Independent Auditor's Report को जरूर पढ़े ताकी आप भी Auditor के Opnion को जान और समझ सके।

तो दोस्तों यह था Auditors Meaning in Hindi .

उम्मीद करता हु यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी।

निवेश से जुडी ऐसी ही जानकारी सीधे अपने Email पर Free में पाने के लिए हमारे Free Weekly Newsletter को जल्दी से Subscribe कर ले।

धन्यवाद।



Comments