Thursday, July 18, 2019

Profit and Loss Statement को उदहारण से समझे। (Part 1)

Profit and Loss Statement का उदाहरण।

पिछली पोस्ट में हमने कंपनी के Financial Statement के बारे में जाना था।

जिसमे हम कंपनी के तीन Financial Statements - Income Statement (Profit & Loss Statement ), Cash Flow Statement और Balance Sheet के बारे में सामान्य उदहारण से जाना था।

आज हम Profit & Loss Statement को विस्तार से जानेंगे।


इसके लिए हम DMart (Avenue Supermarts) का फी FY18 का Profit & Loss Statement समझेंगे।

तो आइए समझते है,

DMart का Profit & Loss Statement :


भारत में वित्तीय वर्ष 1 अप्रेल से अगले साल की 31 मार्च तक होता है।

प्रत्येक वित्तीय वर्ष को तीन तीन महीने के 4 हिस्सों में बांटा जाता है।

उन हर एक हिस्से को Quarter कहा जाता है।

जैसे अभी वित्तीय वर्ष 2020 के पहले Quarter के कंपनीओ के Result यानि Profit & Loss Statement आ रहे है।

इनसे हमें पता लगेगा की कंपनीओ ने FY20 के पहले Quarter यानि 1 अप्रेल 2019 से 30 जून 2019 ने कितना लाभ और नुकसान किया।

निचे मैंने DMart का वित्तीय वर्ष 2018 का Profit & Loss Statement दिया है जिसे आज हम समझेंगे।

किसी भी कंपनी के साल के P&L Statement में उस साल और उसके अगले साल के रिजल्ट आते है।

जिसमे पिछले साल का रिजल्ट दाई ओर तथा उस साल का रिजल्ट बाई ओर होता है।

क्युकी केवल एक साल के रिजल्ट से यह पता नहीं चलता की कंपनी की आय ,खर्च और लाभ आदि बढे है,या कम हुए है।

ऊपर दिए हुए P&L Statement में भी FY 18 का रिजल्ट बाई ओर तथा FY 17 का रिजल्ट दाई ओर है।

सबसे पहले की ROW में तीन चीज़े दी गई है, जिसमे 31 March 2018 और 31 March 2017 कब तक का रिजल्ट है वह बताते है।

Notes के निचे लिखे हुए आंकड़े यह बताते है की किस चीज़ की ज्यादा जानकारी के लिए कौनसी Note में जाए।
यह उस चीज़ या Entry के बारे में ज्यादा जानकारी देती है।

इसके बारे में आगे समझमे आ जाएगा।

₹ in Lakhs का मतलब है, निचे दिए गए सभी आंकड़े Lakh में है।

जैसे 1 का मतलब होगा 1 लाख रुपए।

Income :


Income यानि की आय दर्शाती है की इन तीन महीनो में कंपनी ने कितना पैसा कमाया।

इसके मुख्य दो भाग होते है, Revenue From Operations और Other Income.

Revenue From Operations :


Revenue From Operations का सीधा मतलब है, की कंपनी जो कोई प्रोडक्ट या सर्विस बेचती है, उसे बेचकर कंपनी के पास कितना पैसा आया।

इसे आप ऐसे देख सकते है, की कंपनी ने कितने रुपए का माल बेचा।

जैसे DMart के उदाहरण में Revenue From Operations है, 1,500,889 लाख यानि 15,008.89 करोड़।

इसका मतलब है, FY18 में DMart ने 15,008.89 करोड़ के प्रोडक्ट्स बेचे।

और उसके पिछले साल यानि की FY17 में कंपनी ने 11,881.11करोड़ के प्रोडक्ट्स बेचे।

यानि FY18 में कंपनी की आय करीब 26 % बढ़ी जो की बहुत ही बढ़िया ग्रोथ है।

Revenue From Operations के सामने 25 नंबर लिखा गया है।

यह उस Note का नंबर है, जिसमे Revenue की अधिक जानकारी दी गई है।

अगर कंपनी एक से ज्यादा प्रकार की प्रोडक्ट्स बेचती है, तो कैसे पता चलेगा की किस प्रकार की प्रोडक्ट्स ज्यादा बिकी है, और किस प्रकार की कम बिकी है।

इस चीज़ की जानकारी उन Notes में दी होती है।

यह Note आपको कंपनी के Annual Report में ही मिल जाएगी।

ऐसी ही Notes आपको बहुत सी चीज़ो के सामने देखने मिलेंगी।

Other Income :


Other Income वह आय है, जो कंपनी ने अपनी कोई Products या Service बेचे बिना कमाई है।

जैसे कंपनी ने किए हुए निवेश से मिला हुआ ब्याज तथा कंपनी ने कोई जगह किराए पर दी है, तो उसका किराया।

DMart की FY18 की Other Income है, 72.64 करोड़ जो पिछले साल 31.28 करोड़ थी।

Other Income कंपनी की कुल आय का बहुत छोटा हिस्सा होती है।

अगर किसी कंपनी की Other Income , Revenue From Operations से ज्यादा है, तो हमें उसके बारे में ज्यादा जानकारी लेनी चाहिए।

क्युकी कभी कंपनी अपना कोई निवेश बेचेगी तो हो सकता है, की उस निवेश की कीमत Revenue From Operations से बहुत ज्यादा हो।

लेकिन अगर कंपनी की Revenue From Operations बहुत कम हो तो हमें उसके बारे में सावधान हो जाना चाहिए।

Total Income दोनों ही Revenue From Operations तथा Other Income को जोड़ ने से मिलती है।

जो DMart के लिए FY18 में 15081.54 करोड़ है और FY17 में 11912.40 करोड़ था।

यानि उसकी कुल आय साल FY18 में 26.60 % बढ़ी है।

इसके बाद आते है,

Expenses यानि खर्च :



इन खर्च में पहला है,

Purchase Of Stock In Trade :


इसका मतलब है,

कंपनी द्वारा खरीदी गई वो प्रोडक्ट्स का खर्च जो कंपनी बिना कोई प्रोसेस के सीधे बेचती है।

जैसे DMart ने इस साल 12862.76 करोड़ की Products बेचने के लिए खरीदी है।

दूसरा है,

Changes in inventories of stock-in-trade :


Inventory का मतलब है, कंपनी के पास पड़ी हुई वह Products जो अभी तक बिकी नहीं है।

और Changes in inventories of stock-in-trade का मतलब है, कंपनी की इस साल में कितने रुपए की प्रोडक्ट्स नहीं बिकी है।

इसे एक उदहारण से समझते है।

कंपनी ABC ने इस साल 100 रुपए की Products खरीदी है, और कंपनी अपना मार्जिन 50 % रखती है।

यानि अगर कंपनी सभी प्रोडक्ट्स बेचेगी तो उसके पास 150 रुपए आएँगे।

जिसमे से 50 रुपए उसका प्रॉफिट होगा।

लेकिन इस कंपनी की सिर्फ आधी ही प्रोडक्ट्स बिकी है, तो ऐसे में उसे मिलने वाली आय तो सिर्फ 75 ही होगी।

लेकिन उसने तो 100 रुपए की प्रोडक्ट खरीदी है, इस से तो कंपनी को 25 रुपए का नुकसान होगा ?

जो सच्चा नुकसान नहीं है।

क्युकी कंपनी की तो सिर्फ आधी प्रोडक्ट ही बिकी है।

इस लिए जो 75 रुपए उसने कमाए है, वह सिर्फ 50 रुपए की प्रोडक्ट बेच कर कमाए है।

तो इसको इस तरीके से लिखा जाएगा :


Income - 75 रुपए

Expenses :

Purchase Of Stock In Trade - 100 रुपए

Changes in inventories of stock-in-trade - (-50) रुपए

जिस से कंपनी का  Profit = Income - Expenses

Profit = 75 - (100 -50) = 75 -50 = 25 रुपए।


यानि Changes in inventories of stock-in-trade यह बताता है, की इस खरीदी गई प्रोडक्ट्स में से कितने रुपए की प्रोडक्ट नहीं बिकी।

इस राशि को Expenses में माइनस के साथ लिखा जाता है।

Changes in inventories of stock-in-trade की दूसरी स्थति :


अब कई बार ऐसा होता है, की कंपनी ने इस साल की सभी प्रोडक्ट्स के आलावा पिछले साल खरीदी हुई कुछ प्रोडक्ट्स भी बेच दी।

इस स्थिति में जितनी राशि की प्रोडक्ट्स बिकी है, उसको पिछले साल जितने रुपए की प्रोडक्ट्स थी उस से घटा कर बची राशि को लिखा जाएगा।

जैसे अगर पहले वाले उदहारण में कंपनी ने इस साल 100 रुपए में खरीदी सभी प्रोडक्ट्स के साथ साथ पिछले साल 100 रुपए की प्रोडक्ट्स में से 50 रुपए की प्रोडक्ट्स भी बेच दी तो इसे ऐसे दर्शाया जाएगा :

Income - 225 रुपए

Expenses :

Purchase Of Stock In Trade - 100 रुपए

Changes in inventories of stock-in-trade - 50 रुपए (100 - 50)

जिस से कंपनी का Profit = Income - Expenses

Profit = 225 - (100+50) = 225 - 150 = 75 रुपए।




इसके बाद है,

Employee benefits expense :


यह वो खर्च है, जो कंपनी के Employees के लिए किए जाते है।

जैसे उनकी तनख्वाह , उनके PF का पैसा आदि चीज़ो का खर्च।

DMart के लिए यह खर्च है, 276.55 करोड़

इसके बाद है,

Finance Cost :


अगर कंपनी ने किसी तरह का क़र्ज़ लिया है, तो उसका ब्याज इस Finance Cost में लिखा जाएगा।

जैसे DMart के लिए यह Finance Cost 59.41 करोड़ है, जो 121.80 करोड़ था।

यानि की उसने Finance Cost कम किया है, जो बहुत अच्छी बात है।

उसके बाद है,

Depreciation and Amortisation expense :


जब कंपनिया कोई बड़ी संपत्ति खरीदती है, तो उसके लिए अच्छे खासे पैसे खर्च करने पड़ते है।

अब उस खर्च को सीधे कोई एक साल में नहीं लिया जा सकता क्युकी ऐसा करने पर कंपनी का P&L Account Loss में दिखाएगा।

इस लिए उस खर्च को उस संपत्ति की आयु के हिसाब से कुछ सालो में बाट लिया जाता है।

जैसे अगर कंपनी ने इस साल 100 करोड़ की एक मशीन खरीदी और उसकी अनुमानित आयु 20 साल है, तो कंपनी इस साल से अगले 20 साल तक 5 -5 करोड़ रुपए खर्च के तौर पर लेगी।

अगर वो संपत्ति Tangible यानि की जिसे हम देख और छू सकते है, वो होगी तो यह खर्च Depreciation में लिखा जाएगा।

और अगर कंपनी ने कोई Software या Patent ऐसा कुछ ख़रीदा तो उस खर्च को Amortization में लिखा जाएगा।

इन दोनों के बारे में हम विस्तार से आने वाले दिनों में जानेंगे।

इसके बाद है,

Other expenses :


ऊपर दिए गए खर्च के आलावा भी कुछ खर्च होते है, जिन्हे Other expenses में लिखा जाता है।

जैसे Labour charge , बिजली का बिल , Maintenance का खर्च आदि।

इस तरह हमें इन सभी खर्च को जोड़ कर Total Expenses मिल जाते है।

DMart के उदहारण में यह Total Expenses है, 13885.65 करोड़ है।

इसको Total Income में से घटा कर हम Profit Before Tax यानि कंपनी का टैक्स देने से पहले का मुनाफा गिन सकते है।

DMart के लिए यह मुनाफा है , 1195.88 करोड़

इस तरह हम Profit & Loss Statement में Profit Before Tax तक समझ चुके है।

आने वाली पोस्ट में हम बाकि का Profit & Loss Statement समझेंगे।

इस लिए अगर अब तक आपने हमारे Free Newsletter को Subscribe न किया हो तो तुरंत निचे दि गई लिंक से Subscribe कर ले।

और Subscribe करने के बाद आपके Email ID पर हमारी तरफ से एक Email आएगा जिसमे दी गई लिंक में जाकर अपना Subscription Confirm जरूर कर ले।

अगर आप Subscription Confirm नहीं करेंगे तो आपको हमारी नई पोस्ट का Email नहीं आएगा।

Subscription Link : Subscribe Now

उम्मीद करता हु दोस्तों की आपको यहाँ तक का Profit & Loss Statement समझमे आ गया होगा।

आपको हमारा यह प्रयास कैसा लगा ?

इसके बारे में हमें Comment में जरूर बताए।

[Disclaimer : यहाँ पर मेरा उद्देश्य सिर्फ आपको DMart का Profit & Loss Statement  को समझना है।

में कोई वित्तीय सलाहकार नहीं हु। इस लिए में किसी भी कंपनी में निवेश की सलाह नहीं देता हु। ]



Comments