Friday, May 3, 2019

SIP meaning in Hindi (Systematic Investment Plan)

SIP meaning in Hindi.

अगर आप एक सामान्य निवेशक है जो की म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना चाहते है तो आपने SIP के बारे में तो सुना ही होगा।

आज हम उस SIP के बारे में ही जानेंगे।

जानेंगे की SIP क्या है ? SIP से किस तरह एक निवेशक के लिए जोखिम कम हो जाता है ?

SIP के लाभ एवं नुकसान क्या है ?

क्या एक सामान्य निवेशक को SIP के जरिए म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना चाहिए ?

सबसे पहले जानते है की

SIP क्या है ? (SIP Meaning in Hindi) :


यहाँ SIP का पूरा नाम है Systematic Investment Plan.

जैसा की नाम से जान सकते है SIP म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने का एक सिस्टेमेटिक तरीका है।

इस तरीके में निवेशक एक साथ पूरा पैसा निवेश करने के बजाए निश्चित समय अंतराल में निश्चित राशि निवेश करता रहता है।

जैसे निवेशक ने 1000 रूपए प्रति माह की SIP शुरू करवाई है तो वह हर महीने 1000 रुपए उस म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करता रहेगा।

अब हर वक्त उस म्यूच्यूअल फण्ड की NAV एक समान तो हो नहीं सकती।

यहाँ पढ़े : म्यूच्यूअल फण्ड में NAV क्या है ?

इस वजह से अलग अलग महीने में निवेशक अलग अलग NAV पर म्यूच्यूअल फण्ड खरीदता है।

जब बाजार में तेजी होगी तब म्यूच्यूअल फण्ड की NAV ज्यादा होगी इस लिए 1000 रुपए में कम यूनिट्स आएंगी।

और जब बाजार में मंदी आएगी तब NAV क़म होगी जिस से 1000 रुपए में ज़्यादा यूनिट्स आएंगी।

इस तरह बाजार की सभी स्थितिओ में निवेशक 1000 रुपए निवेश कर रहा है जिस से उसने ख़रीदे हुए कुल यूनिट्स का दाम औसत हो जाएगा।

औसत दाम होने की वजह से एकमुश्त निवेश के मुकाबले निवेशक का जोख़िम कम हो जाएगा।

और लम्बे समय में उसे अच्छा रिटर्न मिलेगा।

SIP से किस तरह एक निवेशक के लिए जोखिम कम हो जाता है ?


इसे अच्छी तरह से निचे दिए गए उदहारण से समझा जा सकता है।


Reliance Small Cap Fund - Direct Plan (G) :


यहाँ पर मैंने Reliance Small Cap Fund - Direct Plan (G) की साल 2018 के मई महीने से साल 2019 के अप्रेल महीने तक की NAV का चार्ट और मूल्य निचे दिया है।

इस उदहारण में हमारा निवेशक मई महीने की 3 तारीख से निवेश करना शुरू करता है और हर महीने 3 तारीख को ही निवेश करता है।


Image Source : groww.in
पहले 11 महीने SIP के जरिए निवेश करने से निवेशक को मिले हुए यूनिट का औसत दाम 43.22 आता है।

Data  Source : groww.in

अगर निवेशक 12 वे महीने की NAV से अपना रिटर्न देखता है तो उसे SIP के द्वारा मिला हुआ रिटर्न इस तरह होगा :

रिटर्न = (42.73 - 48.2) / 48.2 = -1.13 %

मतलब 11 महीने निवेश करने के बाद निवेशक को लाभ के बजाए 1.13 % का नुकसान हुआ।

अब अगर उसने मई महीने में 3 तारीख को ही एकमुश्त निवेश किया होता तो उसे मिलने वाली यूनिट्स 48.2 की NAV पर मिलती।

फिर 11 महीने के एकमुश्त निवेश के बाद उसको मिलने वाला रिटर्न कुछ इस तरह होता :

रिटर्न = (42.73 - 43.22) / 43.22 = -11.34 %

मतलब 11 महीने निवेश करने के बाद निवेशक को लाभ के बजाए 11.34 % का नुकसान हुआ।

यह नुकसान SIP द्वारा निवेश पर हुए नुकसान से करीब 10 गुना है।

इस उदहारण में आप देख सकते है की निवेशक अगर एकमुश्त निवेश की बजाए SIP करता तो उसका जोख़िम बहुत कम हो जाता।

SIP के लाभ एवं नुकसान क्या है ?


SIP के तरीके से निवेश करने के लाभ एवं नुकसान भी है वह दोनों ही कुछ ऐसे है :

लाभ: SIP meaning in Hindi

  1. SIP के द्वारा निवेश करने पर सबसे बड़ा लाभ यह है की निवेश का जोख़िम कम हो जाता है।
  2. इस तरीके से निवेश की राशि एक साथ निकालने की जरुरत नहीं होती।
  3. निवेश कम राशि से भी शुरू किया जा सकता है।
  4. निवेशक व्यवस्थित तरीके से निवेश करना सिख जाता है।
  5. कम आम्दनी वाले लोग भी निवेश कर सकते है।
  6. Top Up SIP की सुविधा का प्रयोग कर के निवेश की राशि बढ़ा सकते है।

नुकसान : SIP meaning in hindi

  1. लम्बे समय की SIP से मिला रिटर्न लम्बे समय के एकमुश्त निवेश से मिले हुए रिटर्न से बहुत कम होता है।
  2. हर महीने निवेश के लिए बैंक में पर्याप्त राशि होनी चाहिए।
  3. निवेश के वक्त पर्याप्त राशि न होने पर बैंक पेनल्टी चार्ज कर सकता है।
  4. लगातार 3 क़िस्त न चूका पाने पर आपकी SIP रद हो जाती है।

क्या एक सामान्य निवेशक को SIP के जरिए म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना चाहिए ?


इस सवाल के दो जवाब है अगर निवेशक एकमुश्त निवेश के जोखिम जितना ज्यादा जोखिम ले सकता है, तो वह एकमुश्त निवेश कर सकता है।

लेकिन अगर निवेशक एकमुश्त निवेश का बहुत ज्यादा जोखिम नहीं ले सकता तो उसे SIP ही करनी चाहिए।

आप कौनसे तरीके से निवेश करना चाहेंगे हमें कमेंट में जरूर बताए।

दोस्तों अगर आपको SIP meaning in Hindi के बारे में यह जानकारी पसंद आई हो जो इसे अपने Social Media पर Share करना ना भूले।



Disqus Comments