Monday, May 6, 2019

NPS vs PPF. किस में निवेश करने से ज्यादा लाभ है ?

NPS vs PPF.

भारत सरकार ने निवेश तथा कर्मचारीओ की पेंशन की राशि जमा करने के लिए बहुत सी योजनाए बनायीं है।

उनमे से एक निवेशक को अपने लक्ष्य, जोखिम और रिटर्न की आवश्यकता के अनुसार अपने लिए बेहतर योजना का चयन कर उसमे निवेश करना चाहिए।

निवेशकों को अक्सर NPS और PPF दोनों में से किस में निवेश करे यह उलझन रहती है।

आज हम NPS और PPF की तुलना कर दोनों में से कौन अच्छा है उस उलझन को सुलझाएंगे।

NPS vs PPF (NPS और PPF की तुलना) :

ऊपर दीए गए मुद्दों में से कुछ बहुत जरुरी और उन के आवला भी कुछ मुद्दे है जो की निचे दिए है।

1. NPS मे निवेश की राशि पर Section 80CCD(1) के अंतर्गत 1.5 लाख तक की टैक्स छूट ले सकते है।

और यह सुविधा PPF में भी है।

PPF में निवेश पर भी हम Section 80C के तहत 1.5 लाख तक छूट ले सकते है।

2. NPS में निवेश पर अधिकतम 50 हजार तक का टैक्स लाभ हम Section 80CCD(1B) के तहत ले सकते है ,

जबकि PPF में यह लाभ नहीं मिलता है।

3. NPS में अगर नियोक्ता (Employer) अपनी और से निवेश करे तो उस पर कुल आमदनी के 10 % तक Section 80CCD(2) के तहत टैक्स मुक्त है।

जबकि PPF में ऐसी कोई सुविधा नहीं है।

4. NPS में निवेश की अवधि निवेशक के रिटायर होने या 60 साल के होने तक निवेश करना होगा।

जबकि PPF में सिर्फ 15 साल के लिए ही निवेश करना पड़ेगा।

अगर निवेशक चाहे तो यह अवधि 5 साल के ब्लॉक में बढ़ा सकता है।

5. NPS में से मिली हुई राशि में से अधिकतम 60% एकमुश्त निकाला जा सकता है, और यह पूरा टैक्स मुक्त रहेगा।

जबकि PPF में निवेश के अंत में मिली हुई पूरी राशि को एकसाथ निकाला जा सकता है, और वह पूरी राशि टैक्स मुक्त रहेगी।

6. NPS में रिटायरमेंट से पहले निवेशक अपने द्वारा निवेश की गई राशि का 25 % एक बार में ऐसे सिर्फ तीन बार ही निकाल सकता है।

यह राशि कम निवेश शुरू होने के ही निकाली जा सकती है।

जबकि PPF में 15 साल से पहले कुछ बहुत जरुरी संजोगो में ही निकल सकते है वह भी निवेश के 6 साल पुरे होने के बाद।

मेरे अनुसार किस में निवेश ज्यादा लाभदायी है ?


मेरे अनुसार अगर कोई निवेशक सिर्फ पूंजी जुटाना चाहता है तो उसके लिए PPF ही बेहतर है।

क्युकी PPF में निवेश से मिली हुई पूरी राशि टैक्स से मुक्त है।

एक समझदार निवेशक अगर उसके रिटायरमेंट को 21 साल से अधिक समय बाकी है तो कुछ ऐसा कर सकता है।
  1. पहले वह अपने लक्ष्य के अनुसार 15 साल तक PPF में निवेश कर सकता है।
  2. उसमे से मिले रिटर्न को Post Office MIS में निवेश कर सकता है।
  3. MIS में हर महीने मिल रही राशि को NPS में निवेश कर सकता है।
इस तरह से एक चालाक निवेशक अपने लिए बहुत ही बेहतरीन निवेश कर सकता है।

लेकिन यदि आप लम्बे समय के लिए निवेश करना चाहते है और थोड़ा ज्यादा जोखिम उठा सकते है।

तो आप शेयर बाजार या फिर म्यूच्यूअल फण्ड में ही निवेश करे क्युकी इनमे से लम्बे समय में सबसे ज्यादा रिटर्न मिलता है।

उम्मीद करता हु दोस्तों आप NPS vs PPF की उलझन को सुलझा पाए होंगे।

ऐसी ही अच्छी जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे Facebook Page को Like करे।



Disqus Comments