Saturday, March 23, 2019

Atal Pension Yojana Hindi में पूरी जानकारी।

Atal Pension Yojana Hindi में पूरी जानकारी।

अगर आप अटल पेंशन योजना के बारे में सब कुछ जान ना चाहते है, तो आप बिलकुल सही जगह पर आए है।

यह योजना खास कर असंगठित क्षेत्र के लोगो के लिए बहुत ही उपयोगी योजना है। 

इस योजना के आने से पहले भारत के ज्यादातर असंगठित क्षेत्र के लोग किसी पेंशन योजना से आरक्षित नहीं थे। 

Atal Pension Yojana में जनवरी 2019 तक एक रिपोर्ट के अनुसार 1.47 करोड़ लोग जुड़ गए है।

Atal Pension Yojana क्या है ?


यह योजना भारत सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र (Unorganized Sector) के लोगो के लिए शुरू की गई योजना है ।

यह एक पेंशन योजना है।

इस योजना के तहत सरकार निवेशक को 1 हज़ार से ले कर 5 हजार तक का गारंटीड पेंशन देती है।

निवेशक को अपने लिए ज़रूरी पेंशन की राशि तय करनी होगी।

इस पेंशन की राशि के अनुसार निवेशक को तय किए गए अंतराल में पेंशन के लिए नियत क़िस्त चुकानी पड़ेगी।

निवेशक के 60 साल के होने पर उसे आजीवन हर माह तय की गई पेंशन मिलती रहेगी ।

सरकार द्वारा गारंटी दी जाने की वजह से इस योजना में आपने तय किया हुआ पेंशन तो मिलेगा ही मिलेगा।

इस योजना में कौन कौन निवेश कर सकता है ?


इस योजना में कोई भी 18 से 40 साल का भारतीय नागरिक निवेश कर सकता है।

यह खाता खुलवाने के लिए एक बचत खाता होना जरूरी है।

इस योजना का सिर्फ एक खाता ही खुलवा सकते है।

अगर निवेशक किसी दूसरा देश वाशी हो जाए तो क्या होगा ?


अगर निवेशक दूसरे देश का नागरिक बन जाए तो उसका खाता बंध कर दिया जाएगा। 
 
और उसकी जमा राशि उसे दे दी जाएगी। 

इस राशि में सरकार द्वारा दिया गया अंशदान और उस पर मिला ब्याज निवेशक को नहीं मिलेगा। 

इस योजना के लिए खाता कहा से और कैसे खुलवाए ?


यह योजना आप किसी बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में जा कर शुरू करवा सकते है।

खाता खुलवाने के लिए आप अपने नजदीकी बैंक में जहा आपका बचत खता हो वहा जाए। 
वहा से आपको इस तरह का एक फॉर्म मिलेगा। 

इस में आपका मोबाइल नंबर और आधार नंबर भी माँगा जाएगा।

इस फॉर्म में अपनी सभी जानकारी अच्छी तरह से भर दे। 

फॉर्म भरने के बाद इस फॉर्म को बैंक में जमा कर दे।  

बहुत सी बैंक अब तो आपको ऑनलाइन भी यह खाता खोलने की सुविधा देती है ।

इस योजना की किस्त आपके बैंक खाते से सीधे ही काट ली जाएगी। 

क़िस्त चुकाने के समय आपके मोबाइल नंबर पर सन्देश के द्वारा जानकारी दी जाएगी। 

ध्यान रखे की क़िस्त कटने के समय पर आपके खाते में पर्याप्त राशि जमा हो।

अगर खाते में पर्याप्त राशि न हो तो क्या होगा ?


अगर क़िस्त कटने के समय आपके खाते में पर्याप्त राशि नहीं हुई तो आपको दंड भरना पड़ेगा। 

यह दंड निवेश की क़िस्त के हिसाब से 1 रुपए से 10 रुपए तक हो सकता है। 

1 रुपए दंड यदि क़िस्त 100 रुपए एक महीने के है तो। 

रुपए दंड यदि क़िस्त 101 रुपए से 500 रुपए एक महीने के है तो। 

रुपए दंड यदि क़िस्त 501 रुपए से 1000 रुपए एक महीने के है तो।

10 रुपए दंड यदि क़िस्त 1001 रुपए से ऊपर एक महीने के है तो।

लगातार कुछ समय तक क़िस्त नहीं चुकाई जाए तो क्या होगा?


अगर लगातार 6 महीने तक क़िस्त नहीं चुकाई गई तो निवेशक का खाता फ्रीज़ कर दिया जाएगा। 

लगातार 1 साल तक क़िस्त नहीं चुकाई गई तो निवेशक का खाता डिएक्टिवेट कर दिया जाएगा। 

अगर लगातार 2 साल तक क़िस्त नहीं चुकाई गई तो निवेशक का खाता बंध कर दिया जाएगा।  

Atal Pension Yojana Hindi में कितना Pension मिलेगा और कितनी उम्र तक मिलेगा ?


इस योजना के तहत निवेशक अपने लिए 1000, 2000, 3000, 4000, 5000 तक का पेंशन का चुनाव कर सकता है।

यह पेंशन भारत सरकार द्वारा गारंटेड रहेगी।

अगर निवेश की गई राशि पर मिला हुआ ब्याज तय किए गए पेंशन से ज्यादा होगा तो ज्यादा पेंशन भी मिल सकता है।

लेकिन वह ज्यादा मिलने वाली राशि गारंटेड नहीं होगी।

यह पेंशन आपको 60 साल की उम्र से लेकर आजीवन मिलेगा।
 Pension Yojana Hindi

इस योजना में निवेशक की मौत के बाद क्या होगा ?


अगर निवेशक की मौत 60 साल के होने के बाद होती है तो उसका पेंशन उसकी पत्नी को को आजीवन मिलेगा।

निवेशक की पत्नी की भी मौत हो जाती है तो निवेशक के 60 साल के होने तक जमा राशि को निवेशक के नॉमिनी को मिल जाएगी ।

अगर निवेशक की मौत 60 साल के होने से पहले जाए तो उसकी पत्नी चाहे तो निवेश चालू रख सकता है ।

यह निवेश उन्हें निवेशक जिन्दा होते तो जब 60 साल के होते तब तक रखना पड़ेगा। 

उसके बाद उन्हें आजीवन पेंशन मिलेगा। 

उनके निधन के बाद निवेशक के नॉमिनी को जमा की गई सारी राशि दे दी जाएगी। 

और अगर पत्नी चाहे तो जमा राशि पूरी तरह निकाल सकती है ।

अगर निवेशक शादी शुदा नहीं है, या फिर उनसे पहले ही उनकी पत्नी किए मौत हो गई है। 

तो उनके निधन के बाद उनके नॉमिनी को निवेशक द्वारा जुताई राशि मिल जाएगी। 

निवेशक की मौत होने पर आपको 'APY Death Withdrawal Form' भरके जहा यह खता खोला गया था वहा देना पड़ेगा। 

जिसके बाद निवेशक की पत्नी को पेंशन या नॉमिनी को जमा राशि मिल जाएगी। 

क्या में अपने पेंशन की राशि कम या ज्यादा कर सकता हु ?


निवेशक चाहे तो साल में एक बार अप्रैल महीने में अपग्रेड-डाउनग्रेड फॉर्म भर कर अपनी पेंशन कि राशि कम या ज्यादा कर सकता है ।

जैसे पहले 1000 की पेंशन तय की थी और अब निवेशक 5000 की पेंशन करना चाहता है।

तो वह किसी भी साल के अप्रैल महीने में अपग्रेड-डाउनग्रेड फॉर्म भरके ऐसा कर सकता है।

अपग्रेड-डाउनग्रेड फॉर्म यहाँ से डाउनलोड करे : Form

अपग्रेड के संजोगो में निवेशक को नए पेंशन के लिए जरुरी क़िस्त और अभी के पेंशन की क़िस्त के बिच की राशि जमा करनी होगी। 

यह राशि हर महीने के चक्रवृद्धि ब्याज के साथ साल के 8 प्रतिशत दर से जमा करनी होगी। 

डाउनग्रेड के संजोगो में निवेशक ने चालू क़िस्त और नए पेंशन के लिए जरुरी क़िस्त के बिच की राशि ब्याज के साथ वापिस मिल जाएगी। 

अपग्रेड और डाउनग्रेड करने के लिए निवेशक को 50 रुपए की फ़ीस भरनी पड़ेगी।

Atal Pension Yojana में कितना और कितने साल तक निवेश करना होगा ?


इस योजना में पेंशन पाने के लिए निवेशक को तय किए पेंशन के लिए नियत की गई किस्त चुकानी होगी ।

यह किस्त निवेशक के पेंशन की राशि और उसकी उम्र के अनुसार अलग अलग होती है।


जैसे किसी ने 20 साल से इस योजना में निवेश किया तो 30 साल से निवेश करने वाले को पहले वाले से ज्यादा क़िस्त चुकानी पड़ेगी।

यह किस्त निवेशक को जब से वह इस योजना में निवेश शुरू करे तब से लेकर उसके 60 साल के होने तक चुकानी होगी ।

उदाहरण के तौर पर अगर निवेशक ने 20 साल की उम्र से इस योजना में निवेश शुरू किया तो उसे अगले 40 साल तक योजना में निवेश करना होगा ।

उम्र के अनुसार और पेंशन के अनुसार कितनी क़िस्त चुकानी पड़ेगी उसकी सूचि निचे दी गई लिंक में दी गई है। 

                       क़िस्त की सूचि 

इसे एक उदाहरण से समजे। 

अगर कोई व्यक्ति 25 साल की उम्र से इस योजना में 5 हजार की पेंशन के लिए जुड़ता है।

तो उसे 376 रुपए प्रति माह अगले 35 साल तक चुकानी पड़ेगी। 
 Atal Pension Yojana Hind
ऊपर दि गई सूचि में

1.7 लाख 1000 की पेंशन वाले व्यक्ति को, 
3.4 लाख 2000 की पेंशन वाले व्यक्ति को, 
5.1 लाख 3000 की पेंशन वाले व्यक्ति को,
6.8 लाख 4000 की पेंशन वाले व्यक्ति को,
8.5 लाख 5000 की पेंशन वाले व्यक्ति को 

यह राशि निवेशक और उसकी पत्नी के निधन के बाद उसके नॉमिनी को मिलने वाली राशि है। 

यह राशि अनुमानित राशि है। 

वाकई में मिलने वाली राशि अलग हो सकती है।

क्या सरकार के द्वारा कोई अंशदान मिलता है ?


जी हा, इस योजना में सरकार भी अंशदान देती है। 

लेकिन यह अंशदान निवेशक की जमा की गई राशि का 50% या सालाना 1000 दोनो में से जो कम है वह होता है। 

अंशदान सिर्फ उन्ही लोगो को मिलना था जिन्होंने मार्च 2016 से पहले इस योजना में निवेश शुरू किया था। 

इसमें भी उन्ही लोगो को यह अंशदान मिलना था जो किसी भी सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभार्थी न हो। 

इन सामाजिक सुरक्षा योजना में , 

1. कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1952

2. कोयला खान भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1948
3. असम चाय बागान भविष्य निधि और विविध प्रावधान, 1955
4. नाविक भविष्य निधि अधिनियम 1966
5. जम्मू कश्मीर कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम,1961
6. कोई अन्य वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना।
शामिल है।

में अपनी जमा राशि किस तरह देख सकता हु ?

निवेश की गई राशि में समय समय पर आपको आपके मोबाइल पर सन्देश भेज कर सूचित कर दिया जाएगा।

क्या में ऑनलाइन अपनी जमा राशि देख सकता हु ?

जी हा।
आप दो तरह से अपनी जमा राशि और चुकाई गई क़िस्त के बारे में जान सकते है।
1. CRKAlite की वेबसाइट से।
2. APY and NPS Lite Android App के जरिए।
इन दोनों के लिए पहले आपको अपना PRAN number की जरुरत पड़ेगी।
PRAN number, Permenant Retirement Account Number है।
यह नंबर NPS और इस योजना में निवेश करने वाले व्यक्ति को दिया जाता है।

आप अपना PRAN number इस तरीके से पता कर सकते है :
1. इस लिंक पर क्लिक करे।
2. आपको निचे दिया हुआ पेज खुलेगा।


3. Click to search without PRAN विकल्प पर Click करे। 

4. अब निवेशक का नाम , बैंक खाता संख्या और निवेशक की जन्म तिथि भरे। 

5. अब Views for Subscriber के सामने दी गई लिस्ट में से 'APY e-PRAN View ' को चुन ले। 

6. निचे दिया गया 'Captcha' भरे। 

7. Submit कर दे। 

अब आपको अपना PRAN नंबर मिल जाएगा। 

जिसके जरिए आप अपनी निवेश की गई क़िस्त और जमा राशि के बारे में जान सकते है। 

निचे दिए गए तरीको यह जान सकते है। 

1. CRKAlite की वेबसाइट से :

i. इस लिंक पर क्लिक करे।
ii. अब खुले हुए पेज में से Click to search with PRAN विकल्प पर Click करे।



   iii. अब अपना PRAN number और बैंक खता संख्या भरे। 

   iv. निचे दिया गया 'Captcha' भरे।

   v. Submit कर दे।

अब आपको आपकी निवेश की गई क़िस्त और जमा राशि की सारी जानकारी मिल जाएगी। 

2. APY and NPS Lite Android App के जरिए ::


 i. यहाँ से APY and NPS Lite APP डाउनलोड करे।

 ii. अब उस एप में आप अपना PRAN नंबर भरे।

 iii. इसके बाद आपके APY में जोड़े गए मोबाइल नंबर पर OTP आएगा।


 iv. उसे दिए गए OTP box में भर कर सबमिट कर दे।

 v. अब आपका APY की ऍप में Login हो जाएगा।

जहा से आप अपनी जमा राशि , भरी गई किस्तों की जानकारी यह सब कुछ जान सकते है।

इन दो तरीको से आप अपनी जमा राशि के बारे में जान सकते है।

क्या में 60 साल से पहले जमा राशि निकाल सकता हु ?


जी नहीं आप 60 साल से पहले जमा राशि नहीं निकाल सकते।

लेकिन कुछ संजोगो में 60 साल से पहले जमा राशि को निकाल ने की अनुमति है।

जैसे की निवेशक की मौत होने पर या फिर निवेशक को गंभीर बीमारी होने पर।

60 साल से पहले राशि निकालने के लिए आपको 'Voluntary Exit Form' भरना पड़ेगा।  

यहा एक बात का ध्यान रखे की ,

60 साल से पहले जमा राशि निकालने पर सिर्फ निवेशक द्वारा जमा की गई राशि और उस पर मिला हुआ ब्याज ही मिलेगा। 

सरकार द्वारा दिया गया अंश दान और उस पर मिला हुआ ब्याज जमा राशि में से काट लीया जाएगा।

Atal Pension Yojana Hindi में निवेश पर कोई टैक्स लाभ है ?


अटल पेंशन योजना और NPS दोनों में निवेश करने पर टैक्स लाभ समान ही है ।

फरवरी 2016 में आयकर विभाग में आए एक Circular के अनुसार इस योजना में दो तरह से लाभ मिलता है। 

1. Section 80C के अंतर्गत : atal Pension Yojana Hindi

इस योजना में निवेश करने पर निवेशक सेक्शन 80C के तहत कुल 1.5 लाख तक का टैक्स लाभ ले सकता है।

2. Section 80CCD(1B) के अंतर्गत :

80C के आलावा अधिक 50 हजार रुपए का टैक्स लाभ Section 80CCD (1B) के तहत मिलता है।

इस तरह इस योजना में निवेश पर निवेशक कुल 2 लाख तक का टैक्स लाभ ले सकता है।

Atal Pension Yojana के लाभ और नुकसान क्या है ?


इस योजना के लाभ :


1.निवेशक को आजीवन नियत राशि बिना जोखिम के पेंशन के रूप में मिलती है ।

2. निवेशक की मौत के बाद उसकी पत्नी को आजीवन पेंशन मिलती रहेगी ।

3. अगर पत्नी की भी मौत हो जाए तो निवेशक के नॉमिनी को पूरी जमा राशि मिल जाएगी।

4. यह पेंशन सरकार के द्वारा गारंटेड होता है । 

5. योजना में जमा किए हुए पैसे Professional फंड मैनेजर संभालते है ।

6. निवेशक की क़िस्त का 50 प्रतिशत सरकार देगी *.

*[ यह सुविधा सिर्फ उन्ही के लिए थी जिन्होंने साल 2015 में इस योजना में निवेश करना शुरू किया था। ]


इस योजना का नुकसान :


1.किस्त चुकाने में देरी होने पर पेनल्टी लगती है ।

यह पेनल्टी 1 रुपए से लेकर 10 रुपए तक लगती है ।

यह पेनल्टी कुछ इस तरह होती है।

अगर तय की गई क़िस्त 100 रुपए हर महीने के है तो 1 रुपए पेनल्टी है।

तय की गई क़िस्त 101 से 500 रुपए हर महीने के है तो 2 रुपए पेनल्टी है।

अगर तय की गई क़िस्त501 से 1000 रुपए हर महीने के है तो 5 रुपए पेनल्टी है।

और क़िस्त 1001 से ज्यादा है तो पेनल्टी 10 रुपए है।

2. अगर ६ महीने तक लगातार किस्त नहीं चुकाई जाएगी तो निवेशक का खाता फ्रिज हो जाएगा ।

अगर एक साल तक लगातार किस्त नहीं चुकाई जाएगी तो निवेशक का खाता डिएक्टिवेट हो जाएगा

लगातार 2 साल तक किस्त न चुकाने पर निवेशक का खाता बंद हो जाएगा। 

3. इस योजना के अंतर्गत निवेशक को बहुत लम्बे समय के लिए निवेश करना पड़ता है।

4 . निवेशक को बहुत सालो बाद महीने का 5 हजार तक का ही पेंशन मिलता है , जो आज से चालिश साल बाद बहुत कम होगा।


क्या Atal Pension Yojana Hindi में मुझे निवेश करना चाहिए ?


अगर थोड़ा ज्यादा निवेश कर सकते है तो इस योजना के बजाए NPS में निवेश करे।

क्योकि NPS में आपको ज्यादा सुविधाए दी जाती है आप समय से पहले भी कुछ पैसे निकाल सकते है।

अगर महंगाई को गिना जाए तो आज से चालिश साल बाद 5 हजार रुपए की कीमत बहुत ही कम होगी।

जिस से आपका गुजारा नहीं हो पाएगा।

लेकिन अगर आप थोड़ा ज्यादा निवेश या फिर थोड़ा ज्यादा जोखम नहीं ले सकते तो ही इस योजना में निवेश करे।

इस योजना से सम्बंधित सभी फॉर्म आपको यहाँ से मिल जाएंगे : Atal Pension Yojana

उम्मीद करता हु की आपको Atal Pension Yojana Hindi के बारे में सब कुछ समझमे आ गया होगा।

दोस्तों, यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे Social Media में Share कर के हमारी मदद कर सकते है।

धन्यवाद।


और भी पढ़े :






Disqus Comments