Monday, February 11, 2019

ELSS Meaning in Hindi - ELSS क्या है ?

ELSS meaning in Hindi.

हमारी आय का बहुत बड़ा हिस्सा हमारी आय पर Tax देने में चला जाता है।

इस लिए हम जैसे ज्यादातर लोग Tax बचाने का विकल्प खोजते ही रहते है।

वैसे तो Tax बचाने के कई विकल्प होते है, लेकिन उनमे से ज़्यादातर निश्चित % का ब्याज देते है।

जो हमारे लिए बहुत कम हो सकता है।

इस लिए अगर ऐसा कोई विकल्प हो जो हमारा Tax तो बचाए ही पर साथ में हमें अच्छा रिटर्न भी दे तो यह सोने पे सुहागा हो सकता है।

तो आज हम एक ऐसे ही निवेश विकल्प के बारे में बात करेंगे।

और यह विकल्प है, ELSS.

तो आइए जानते है की,

ELSS क्या है ? (ELSS meaning in Hindi)


यह एक Diversified Equity Mutual Funds है।

Mutual Funds के बारे में तो हम पहले ही बात कर चुके है।

अगर आप Mutual Fund के बारे में नहीं जानते तो यहाँ से जान सकते है : Mutual Funds Meaning in Hindi

ELSS का पूरा नाम Equity Linked Saving Scheme है।

इस फंड में निवेश किए गए पैसो में से कम से कम 80 % पैसा शेयर बाज़ार में निवेश किया जाता है।

और बाकी बचा हुआ पैसा निश्चित दर से ब्याज देने वाले और बहुत कम जोखिम भरे विकल्प में निवेश किया जाता है।

ऐसा करने से दो लाभ मिलते है :

पहला यह की शेयर बाज़ार में निवेश करने से आम निवेश विकल्प से ज्यादा रिटर्न मिलता।

और दूसरा यह की कुछ पैसा Debt विकल्प में निवेश होने से कुछ प्रतिशत रिटर्न निश्चित और बहुत कम जोखिम भरा होता है।

इस लिए कभी अगर शेयर बाज़ार में कम रिटर्न मिला तो Debt से मिला हुआ रिटर्न हमें नुकसान से बचा लेता है।

इस लिए हमें नुकसान होने की संभावनाए कम हो जाती है।

तो आइए अब जानते है की,

ELSS में निवेश के लाभ क्या है ?


1. Tax Saver Funds:


ELSS में निवेश का सबसे बड़ा लाभ उस में किए गए निवेश पर Tax में मिलने वाली छुट है।


ELSS को Income Tax के Section 80C में सामिल किया गया है।

इसलिए ELSS में निवेश की गई राशि में से 1,50,000 तक की राशि पर Tax में छूट  मिलती है।

ELSS में कम से कम 80 % शेयर बाज़ार में निवेश किए जाने की वजह से इन्हे Equity Mutual Funds ही माना जाता।

और LTCG लगाए जाने से पहले 1 साल से अधिक के Equity निवेश से मिलने वाले रिटर्न पर कोई Tax नहीं लगता था।

और ELSS में निवेश की गई राशि भी 3 साल के लॉक की वजह से 3 साल के पहले नहीं निकाली जा सकती।

जिस से LTCG लागु होने से पहले ELSS से मिलने वाले रिटर्न पर भी कोई Tax नहीं लगता था।

इस तरह निवेश की गई 1.5 लाख तक की राशि और मिलने वाले रिटर्न दोनों में Tax छूट मिलती थी।

इस वजह से ELSS को Tax Saver Funds कहा जाता था।

लेकिन LTCG के लागु होने के बाद शेयर बाजार में भी 1 साल से ज्यादा समय के निवेश से मिले हुए रिटर्न पर 10 % Tax लागु कर दिया गया है।

और यह नियम ELSS में भी लागु होता है।

इस लिए ELSS में किए गए निवेश से मिले हुए रिटर्न पर भी 10 % Tax लगना शुरू हो गया है।

इस लिए कुछ लोगो ने ELSS में निवेश करना कम कर दिया है।

लेकिन अब भी यह फंड Tax Saver Fund है क्युकी अब भी निवेश की हुई राशि में से 1,50,000 तक की Tax में से छूट मिलती है।

यह भी पढ़े : क्या SIP के ज़रिए 5 साल में आपका पैसा दोगुना हो जाता है ?

2. सबसे कम Lock In समय :


ELSS में निवेश करने का एक और लाभ यह है की इस में बाकी सब Tax Saver विकल्प के मुकाबले सबसे कम Lock In समय होता है।

इस में lock in समय 3 साल का ही है जबकी बाकी सब में lock in समय 5 साल से 15 साल का होता है।

3. ज्यादा रिटर्न देता है :


कम से कम 80 % पैसा शेयर बाज़ार में निवेश की वजह से बाकी Tax Saver विकल्प के मुकाबले ELSS सबसे ज्यादा रिटर्न देता है।

इस में मिलने वाला रिटर्न सालाना 12 प्रतिशत से लेकर 18 प्रतिशत तक का भी हो सकता है।


जबकी अन्य विकल्पों में ज्यादा से ज्यादा सालाना 8 प्रतिशत का रिटर्न मिलता है।

अगर आप भी Tax Saving के साथ निवेश करना चाहते है तो ELSS में निवेश  कर सकते है।


ELSS में निवेश के नुकसान क्या है ?



ELSS में निवेश करने का सबसे बड़ा नुकसान इसका लॉक इन समय होता है।

एक बार निवेश कर देने के बाद निवेश किया हुआ पैसा 3 साल बाद ही वापस मिल सकता है।

अगर आपने SIP के द्वारा निवेश किया है तो आप इसे रोक तो सकते है।

लेकिन पहले से निवेशित राशि निवेशक को 3 साल बाद ही मिलती है।

इस लिए जब भी ELSS में निवेश करे तब बहुत सोच समझकर ही करे।

Note : ध्यान रहे की में  कोई SEBI रजिस्टर्ड वित्तीय  सलाहकार नहीं हु, इस लिए आप कुछ भी निवेश करे वो अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह लेकर  ही करे।

निष्कर्ष :


दोस्तों आज हमने ELSS meaning in Hindi के बारे में जाना।

उम्मीद करता हु की आपके लिए यह जानकारी बहुत उपयोगी साबित हुई होगी।

यदी आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे Social Media पर जरूर Share करे।

और अब पाए शेयर बाजार, Mutual Funds और अन्य निवेश के बारे में ऐसी जानकारी सीधे अपने Email पर वह भी Free में।

इसके लिए हमारे Free Weekly Newsletter को जल्दी से Subscribe कर ले।

धन्यवाद।

और भी पढ़े :


ETF (Exchange Traded Funds) क्या होते है ?

Actively managed funds in Hindi 

TOP-UP SIP क्या होती है ?



Comments