Thursday, December 6, 2018

Index Funds (इंडेक्स फंड्स) क्या होते है ? - Mutual Funds in Hindi


Index Funds (इंडेक्स फंड्स) क्या होते है ? हमें कौनसा Index Fund चुनना चाहिए ?Index Funds में निवेश कैसे करे ? इंडेक्स फण्ड में निवेश करना चाहिए या नहीं ? 

अगर यह सभी सवाल आपके मन में है तो आप सही जगह पर आए है।


Index Funds क्या होते है ?


दोस्तों, हम जानते है की म्यूच्यूअल फंड्स में फण्ड मैनेजर्स होते है। 

जो की म्यूच्यूअल फण्ड के लक्ष्य के अनुसार उस म्यूच्यूअल फण्ड के लिए शेयर का चयन करते है जिसके लिए उनमे खोज कर्ता टीम को रखा जाता है।

इस तरह वो हमेशा प्रयास करते है की बाजार के इंडेक्स(Nifty,Sensex etc)से ज़्यादा रिटर्न दे पाए ।

जबकि इंडेक्स फंड्स ऐसे फंड्स होते है जिस में फण्ड मैनेजर कोई खोज करने के बजाए कोई एक इंडेक्स की कंपनियो में इंडेक्स के अनुपात के अनुसार फण्ड के पैसे को निवेश करती है।  

इस लिए इस तरह के फण्ड का लक्ष्य अपने इंडेक्स के रिटर्न जितना रिटर्न देना है। 

लेकिन हमेशा ये फंड्स इंडेक्स के फंड्स के रिटर्न जितना रिटर्न नहीं दे पाते।

इंडेक्स के रिटर्न और उस फण्ड के रिटर्न के अंतर को रिटर्न देने में आयी त्रुटि (tracking error) कहते है। 

जितनी कम त्रुटि हो उतना ज़्यादा रिटर्न मिलता है।

हमें कौनसा Index Fund चुनना चाहिए ?


अगर हम इंडेक्स फण्ड में निवेश करना चाहे तो हमें उस फण्ड को चुनना चाहिए जिस इंडेक्स फण्ड के रिटर्न बाकि सब से ज़्यादा या फिर उनके जितना और एक्सपेंस रेश्यो (Expense Ratio) उनसे कम हो।

जिससे की हमें जयादा से ज्यादा रिटर्न मिले। 


Index Funds  में निवेश कैसे करे ?


इंडेक्स म्यूच्यूअल फंड्स आप एसेट मैनेजमेंट कंपनी (AMC)की वेबसाइट से या फिर और वेबसाइट जैसे की Groww.in, Kuvera, Paisabazar  से भी खरीद सकते है।

इंडेक्स फंड्स से लाभ और नुकशान: 


1) लाभ:

इंडेक्स फण्ड का सबसे बड़ा लाभ ये है की इंडेक्स फण्ड में खोज करने के लिए टीम की जरुरत नहीं होती।

इसी वजह से बाकि म्यूच्यूअल फंड्स के मुकाबले में इंडेक्स फण्ड का एक्सपेंस रेश्यो (Expense Ratio) बहोत ही कम होता है। 

जहा बाकि म्यूच्यूअल फण्ड के डायरेक्ट प्लान में भी 1 प्रतिशत का एक्सपेंस रेश्यो होता है, वही इंडेक्स फण्ड में एक्सपेंस रेश्यो 0.5 प्रतिशत या उस से कम भी होता है।

२) नुकसान:

इंडेक्स फण्ड में एक्सपेंस रेश्यो तो बाकि म्यूच्यूअल फंड्स से कम होता है लेकिन एक बड़ी समस्या ये होती है की बाकि म्यूच्यूअल फंड्स से उनका रिटर्न ज़्यादा नहीं होता। 

क्योकि बाकि सभी म्यूच्यूअल फंड्स में फण्ड मैनेजर और उसकी खोज कर्ता टीम होती है। 

जो की अपनी खोज के अनुसार कंपनीओ को बेचती और खरीदती है। 

लेकिन इंडेक्स फण्ड में जब तक इंडेक्स में किसी कंपनी में कुछ बदलाव नहीं होता तब तक इंडेक्स फण्ड में भी बदलाव नहीं कर सकते। 

इंडेक्स फंड्स में निवेश करना चाहिए या नहीं ?


इंडेक्स फण्ड में आपको निवेश करना चाहिए या नहीं ये तो आपकी जोखम जेलने की क्षमता और निवेश करने की अवधि पर निर्भर करता है।  

लेकिन मेरी राय में तो इंडेक्स फण्ड में निवेश नहीं करना चाहिए। 

क्योकि अगर कोई कंपनी इंडेक्स में नहीं हे लेकिन बहोत ही बढ़िया है और बहोत ही अच्छे दाम पर मिल रही है फिर भी जब तक वह इंडेक्स में शामिल नहीं होती तब तक इंडेक्स फंड्स में भी शामिल नहीं हो सकती।

जिससे हम बहुत अच्छे मौके भी गवा सकते है। 

यदि आप इंडेक्स फण्ड में निवेश करे तो मेरा आपसे ये निवेदन है की इंडेक्स फंड्स के साथ कुछ और फण्ड में भी निवेश करे ताकि थोड़ा ज़्यादा रिटर्न भी मिल सके। 

हमेशा बहोत लम्बे समय के लिए ही इंडेक्स फण्ड में निवेश करे।

उम्मीद करता हु की आपको इंडेक्स फण्ड के बारे में समझ आ गया होगा। 

यदि आपको समझने में कोई दिक्कत हुई हो तो आप हमें Comment Box में लिख कर बता सकते है। में आपको समझाने का पूरा प्रयास करूँगा। 

दोस्तों यदि हमारी ये जानकारी से आपने कुछ अच्छा सीखा होतो हमारे Facebook page SIP TO LUMP SUM को Like करना ना भूले।

आपका एक भी Like हमें आगे बढ़ने में मदद कर सकता है। 


और भी पढ़े : 


ETF (Exchange Traded Funds) क्या होते है ? 


NAV (Net Asset Value) को कैसे समजे ? 


Mutual Funds me Expense ratio, Entry Load aur Exit Load kya Hota Hai? 


Mutual Funds में कोनसा प्लान चुने - Regular  Plan या फिर Direct Plan? 



Disqus Comments