SIP TO LUMP SUM - Learn Investing in Hindi
SIP TO LUMP SUM - Learn Investing in Hindi

Saturday, January 19, 2019

शेयर बाजार से कम जोखिम लेकर पैसा कैसे कमाए ?

शेयर बाजार से कम जोखिम लेकर पैसा कैसे कमाए ?
क्या आप शेयर बाजार से कम जोखिम लेकर पैसा कमाना चाहते है?  तो आप सही जगह पर आए है।

share bajar se kam jokhim lekar paise kaise kamae
शेयर बाजार में जोखिम की वजह से ज्यादातर लोग शेयर बाजार में आने से डरते है।
शेयर बाजार जोखिमभरा है यह बात तो सही है।
लेकिन कुछ रास्ते ऐसे भी है जिनसे छोटे निवेशक भी शेयर बाजार से कम जोखिम लेकर अच्छा पैसा कमा सकते है।
शेयर बाजार से कम जोखिम लेकर पैसा कमाने का एक रास्ता है 'Buyback'
Buyback से आप कम समय में कम जोखिम लेकर पैसा कमा सकते है।  


क्या है Buyback ?

Buyback  का मतलब है वापस खरीदना।
यह IPO से विरुद्ध प्रक्रिया है। जैसे IPO में कंपनी अपने शेयर निवेशकों को सीधा बेचती है।

यहा पढ़े : IPO क्या हैं और IPO में निवेश कैसे करे ?

उसी तरह Buyback में कंपनी अपने शेयर धारको से अपनी कंपनी के शेयर वापस ख़रीदती है।


जब किसी कंपनी अपने व्यापर के लिए सभी खर्च करने के बाद कुछ पैसा बचता है तब वह अपने शेयरधारकों को लाभ देने के लिए अपने शेयर को तय किए गए दाम से वापस खरीदती है।  


यह दाम उस कंपनी के शेयर बाजार में चल रहे दाम से कुछ प्रतिशत ज़्यादा तय किया जाता है। यह प्रतिशत 3 ,4 , 5 ,10 या फिर कुछ भी हो सकता है।
कई कंपनिया तो 30 प्रतिशत ऊचे दाम पर शेयर वापस खरीदती है।


कोई कंपनी ऊँचे दाम पर शेयर क्यों खरीदती है ?


Company apne share unche daam par kyu kharidegi



अपने शेयर को उचे दाम पर खरीदने की वजह कुछ ऐसी हो सकती है।
उचे दाम पर खरीदने की वजह से लोग सीधा शेयर बाजार से उस कंपनी के शेयर को खरीदते है जिस से उस कंपनी के शेयर का दाम बढ़ जाता है।
और उचे दाम पर शेयर खरीद कर कंपनी अपने शेयर धारको को लाभ देती है।


इस मौके का फायदा उठाकर हम शेयर बाजार से कम जोखिम लेकर पैसा कमा सकते है वो भी कम समय में।


इस में जोखिम कम कैसे होता है?

इस प्रक्रिया में शेयर बेचने का दाम तो तय होता है, और आप जिस दाम पर बाजार से शेयर खरीदेंगे उस से आपको मिलने वाला लाभ तय होता है।
इस लिए जितने कम दाम में आपको शेयर मिलेगा उतना आपको ज़्यादा लाभ मिलेगा।
खरीदने और बेचने का दोनो दाम तय हो जाने से जोखिम कम हो जाता है।
अब आप यह सोच रहे होंगे की फिर तो इस प्रक्रिया में जोखिम ही नहीं है।  


लेकिन

शेयर बाजार में बिना जोखम के कुछ नहीं होता।
इस में जोखिम यह है की जैसे शेयर वापस खरीदने का दाम तय होता है।

उसी तरह कितने शेयर खरीदने है उसकी संख्या भी तय होती है।  
इस लिए अगर आपने 100 शेयर के लिए आवेदन किया हो तो कंपनी हमेशा 100 शेयर नहीं खरीदती।
कंपनी कितने प्रतिशत शेयर खरीदेगी वो Buyback में आवेदन करने वाले निवेशक और कुल Buyback के लिए आए आवेदन पर आधारित है।


जितने ज़्यादा लोग जितनी ज़्यादा संख्या में Buyback  के लिए आवेदन करते है उतने ही कम शेयर हर एक निवेश के ख़रीदे जाएंगे।  
जैसेकी अगर कंपनी ने 10 करोड़ शेयर खरीदने का निश्चित किया है लेकिन कंपनी के पास 10 करोड़ शेयरधारकों से कुल 100 करोड़ शेयर का आवेदन आया है।
तो कंपनी हर एक के पास से 10 प्रतिशत शेयर ही खरीदे गी।
अगर आपने 100 शेयर के लिए आवेदन किया है तो कम्पनी आपसे 10 शेयर ही खरीदेगी।
बाकि 90 शेयर आपको वापस कर दिए जाएंगे। वो 90 शेयर आपको बाजार में बेचने पड़ेंगे।
उन 90 शेयर पर होने वाला लाभ या नुकशान  बाजार में चल रहे दाम पर आधारित होगा।


इस राश्ते में यही जोखिम है।
इस लिए आप जब भी Buyback  में आवेदन करे बहुत ही सोच समझकर ही करे। और उतनी ही राशि से करे जितने का जोखिम आप ले सकते है।  


Buyback की पूरी प्रक्रिया।


1) कंपनी के शेयर के Buyback का ऐलान :

  

पहले कंपनी Buyback का ऐलान करती है जिसमे की Buyback का दाम और कितने शेयर Buyback करेगी वो संख्या का ज़िक्र होता है।

2) Buyback की Record Date का ऐलान :

कुछ समय के बाद कंपनी Buyback की Record Date का ऐलान करती है।
Record Date वह तारीख है जिस दिन आपके Demat Account में उस कंपनी के शेयर होने चाहिए।

यहा पढ़े : शेयर बाजार में नुकशान से बचने के टिप्स।
जिसके लिए निवेशक को कम से कम Record Date के दो वर्किंग दिन पहले ही शेयर को खरीदना होगा।

3) Buyback के खुलने और बंद होने की तारीख का ऐलान।

Record Date का एलान करने के कुछ समय बाद कंपनी यह जानकारी देती है की कब Buyback शुरू होगा और कब ख़त्म होगा।


हम Buyback में कैसे आवेदन करे ?




अगर आपके पास Record Date के दिन उस कंपनी के शेयर होंगे तो आपको अपने ब्रोकर के पास रजिस्टर किए हुए Email Id पर वह कंपनी एक Tender Form भेजेगी।

आपको उस फॉर्म को भरने के बाद अपने ब्रोकर को भेजना पड़ेगा। बाकि सब आपका ब्रोकर कर लेगा।  
Buyback का सेटलमेंट हो जाने के बाद जितने शेयर ख़रीदे गए है उतने शेयर का पैसा आपके खाते में जमा हो जाएगा और बाकि सभी शेयर आपके Demat Account में फिर से आ जाएंगे।  

Buyback में ज्यादा लाभ कमाने के उपाय।


1) Buyback का ऐलान होने के तुरंत बाद शेयर न ख़रीदे बल्कि Record Date के कुछ दिन पहले तक प्रतीक्षा करे।

अगर बीचमे कोई ऐसा मौका मिले की जब उस कंपनी का शेयर बहुत कम दाम पर बिक रहा हो तब ख़रीदले।

जिस से आपका लाभ बढ़ जाए। और यदि ऐसा मौका न मिले तो Record Date के कुछ दिन पहले ही ख़रीदले।
 
2) अगर कंपनी का buyback शुरू होने से पहले ही buyback में मिलने वाला दाम बाजार में आ जाता है तो सीधा बाजार में ही अपने शेयर बेच दे। 

उम्मीद करता हु दोस्तों की आपको समझमे आ गया होगा की हम शेयर बाजार से कम जोखिम लेकर पैसा कमा सकते है।

यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो जल्दी से इसे Social Media में शेयर करे। जिस से और लोग भी समझ पाए की शेयर बाजार से कम जोखिम लेकर पैसा कैसे कमाए ?

Wednesday, January 16, 2019

SIP का पेमेंट मिस कर गए तो क्या होगा ?

SIP का पेमेंट मिस कर गए तो क्या होगा ?
क्या आप अपनी म्यूच्यूअल फण्ड की SIP का पेमेंट मिस कर गए है ? और आप ये सोच रहे है की आपको कितनी पेनल्टी लगेगी ? तो आप सही जगह पर आए है।

Saturday, January 12, 2019

Market Capitalization meaning in Hindi - share market in Hindi

Market Capitalization meaning in Hindi - share market in Hindi
Market Capitalization in Hindi. Large Cap, MidCap, and Small Cap Companies. 


मार्किट कैपिटलाइजेशन  या मार्किट कैप  का मतलब है कंपनी की मार्किट में कीमत।


किसी कंपनी का मार्किट कैपिटलाइजेशन ढूंढने के लिए हमें उस कंपनी के आउटस्टैंडिंग (मार्किट में) शेयर्स को उस कंपनी के शेयर के मार्किट के दाम को गुणा करना पड़ेगा।

Monday, January 7, 2019

TOP-UP SIP क्या होती है ? TOP-UP SIP क्यों करे ?

TOP-UP SIP क्या होती है ? TOP-UP SIP क्यों करे ?
नमस्कार दोस्तों। आपका SIP TO LUMP SUM में स्वागत है। आज हम जानेंगे की 'TOP-UP SIP क्या होता है ? TOP-UP SIP क्यों करे ?'

Thursday, January 3, 2019

शेयर बाजार से सच में कौन कमाता है ? - Share Market in Hindi

शेयर बाजार से सच में कौन कमाता है ? - Share Market in Hindi
नमस्कार दोस्तों। आपका SIP TO LUMP SUM में स्वागत है। आज हम जानेंगे की 'शेयर बाजार से सच में कौन कमाता है ?'